जब आप किसी के लिए प्रार्थना करते हैं तो आप उसकी ओर अपने व्यक्तिगत दृष्टिकोण को संशोधित करते हैं. – नोर्मन विन्सेंट पील ||
When you pray for anyone you tend to modify your personal attitude toward him. – Norman Vincent Peale

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *