उसने मेरा अपमान किया, मुझे कष्ट दिया, मुझे लूट लिया”-जो व्यक्ति जीवन भर इन्हीं बातों को लेकर शिकायत करते रहते हैं, वे कभी भी चैन से नहीं रह पाते, सुकून से वही व्यक्ति रहते हैं जो खुद को इन बातों से ऊपर उठा लेते हैं| || He insulted me, hit me, beat me, robbed me” — for those who brood on this, hostility isn’t stilled. “He insulted me, hit me, beat me, robbed me” — for those who don’t brood on this, hostility is stilled – Gautam Buddha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *