जब कोई और खिलाड़ी कम रन बना कर आउट होता है तो लोग दुखी नहीं होते , लेकिन सचिन तेंदुलकर अगर ९० रन पर भी आउट होता है तो उसकी आलोचना होती है क्योंकि लोग उसका आंकलन एक अलग स्तर पर करते हैं . मैं खुश हूँ कि मुझे भी उम्मीदों के पैमाने पर आँका गया है , न कि यश-अपयश के पैमाने पर. || People are not upset when any other player is out with a low score, but if Sachin Tendulkar is out even at 90, he is criticised because people judge him on a different scale. I’m glad that I, too, have been judged on a scale of expectations and not on a scale of credit and discredit. – Narendra Modi

One thought on “

  1. Mohit Mishra on

    आपके द्वारा इन अनमोल वचनाें को बहुत ही अच्‍छी तरह से प्रदर्शित किया गया है। नरेन्‍द्र मोदी के इन अनमोल वचनों को पढ़कर बहुत ही अच्‍छा लगा। क्‍योंकि वह जो बोलते हैं वह कर भी रहें है। अत: उनके बारे में इतनी जानकारी देने के लिए धन्‍यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *