खाके गुजिया, पी के भंग
लगा के थोड़ा थोड़ा सा रंग
बजा के ढोलक और मृदंग
खेलें होली हम तेरे संग।
होली मुबारक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *