वेश्याएं निर्धनों के साथ नहीं रहतीं ,नागरिक दुर्बलों की संगती में नहीं रहते , और पक्षी उस पेड़ पर घोंसला नहीं बनाते जिसपे फल ना हों. – चाणक्य || Whores don’t live in company of poor men, citizens never support a weak company and birds don’t build nests on a tree that doesn’t bear fruits. – Chanakya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *