जीवन ताश के पत्तों के खेल की तरह है. आपके हाथ में जो है वह नियति है, जिस तरह से आप खेलते हैं वह स्वतंत्र इच्छा है. – जवाहरलाल नेहरु ||
Life is like a game of cards. The hand you are dealt is determinism; the way you play it is free will. – Jawaharlal Nehru

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *