चार तरीके हैं, और सिर्फ चार तरीके हैं जिनके द्वारा हम दुनिया के संपर्क में आते हैं. हमारा मूल्याङ्कन और वर्गीकरण इन्ही चार संपर्कों द्वारा होता है: हम क्या करते हैं,हम कैसे दीखते हैं,हम क्या कहते हैं, और हम कैसे कहते हैं. – डेल कार्नेगी || There are four ways, and only four ways, in which we have contact with the world. We are evaluated and classified by these four contacts: what we do, how we look, what we say, and how we say it. – Dale Carnegie

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *