Hindi Quotes by Famous People

Archive

पुस्तकें वो साधन हैं जिनके माध्यम से हम विभिन्न संस्कृतियों के बीच पुल का निर्माण कर सकते हैं. || Books are the means by which we build bridges between cultures. – Sarvepalli Radhakrishnan

मेरी किताबें पानी की तरह हैं; और उन महान प्रतिभाओं की शराब की तरह. (सौभाग्यवश) सभी लोग पानी पीते हैं. || My books are like water; those of the great geniuses are wine. (Fortunately) everybody drinks water. – Mark Twain

स्वस्थ्य सम्बन्धी किताबों को पढने में सावधानी बरतिए. एक मुद्रणदोष की वजह से आपकी मौत हो सकती है. || Be careful about reading health books. You may die of a misprint. – Mark Twain

जो व्यक्ति पढता नहीं है वो ना पढ़ पाने वाले व्यक्ति की अपेक्षा कोई लाभ नहीं है. || A person who won’t read has no advantage over one who can’t read. – Mark Twain

‘क्लासिक.’ एक ऐसी पुस्तक जिसकी लोग प्रशंशा करते हैं पर पढ़ते नहीं. || ‘Classic.’ A book which people praise and don’t read. – Mark Twain

अपना समय औरों के लेखों से खुद को सुधारने में लगाइए , ताकि आप उन चीजों को आसानी से जान पाएं जिसके लिए औरों ने कठिन मेहनत की है . || Employ your time in improving yourself by other men’s Read more ›

याद रखिये कुछ किताबें चखने के लिए होती हैं , कुछ किताबें चबाने के लिए और अंत में कुछ किताबें घोल कर पी जाने के लिए होती हैं . || Remember some books are meant to be tasted, some books Read more ›

लेखक बिजली के खम्भे हैं और आलोचक कुत्ते हैं . खम्भों से पूछो कि वे कुत्तों के बारे में क्या सोचते हैं . क्या कुत्ते खम्भों को चोट पहुंचाते हैं ? || Writers are lampposts and critics are dogs. Ask Read more ›

मुझे अपनी पहली किताब लिखने में चालीस साल लगे . || It took me 40 years to write my first book. – Paulo Coelho

इसे एक नियम बना लीजिये कभी भी किसी बच्चे को वो किताब पढ़ने को मत दीजिये जो आप खुद नहीं पढेंगे .|| Make it a rule never to give a child a book you would not read yourself. – George Read more ›

यदि आप प्रेम और विवाह के -बारे में पढना चाहते हैं तो आपको दो अलग-अलग किताबें पढनी होंगी. – एलेन किंग || If you want to read about love and marriage, you’ve got to buy two separate books. – Alan Read more ›

एक मकान तब तक घर नहीं बन सकता जब तक उसमे दिमाग और शरीर दोनों के लिए भोजन और भभक ना हो. – बेंजामिन फ्रैंकलिन || A house is not a home unless it contains food and fire for the Read more ›

तुम्हे अन्दर से बाहर की तरफ विकसित होना है . कोई तुम्हे पढ़ा नहीं सकता , कोई तुम्हे आध्यात्मिक नहीं बना सकता . तुम्हारी आत्मा के आलावा कोई और गुरु नहीं है . – स्वामी विवेकानंद || You have to Read more ›

पुस्तकों का मूल्य रत्नों से भी अधिक है, क्योंकि पुस्तकें अन्तःकरण को उज्ज्वल करती हैं । – महात्मा गाँधी