Hindi Quotes by Famous People

Archive

मैंने ये हमेशा ये पाया है की कड़ी सजा या न्याय की तुलना में दया ज्यादा मीठे फल देती है। || “I have always found that mercy bears richer fruits than strict justice.” – Abraham Lincoln

शब्दों में दयालुता आत्मविश्वास पैदा करती है. सोच में दयालुता गूढ़ता लाती है. देने में दयालुता प्रेम पैदा करती है। || Kindness in words creates confidence. Kindness in thinking creates profoundness. Kindness in giving creates love. – Lao Tzu

यदि तुम एकदम सही होना चाहते हो, जाओ, अपनी सारी संपत्ति बेच दो और गरीबों को दे दो, और तुम्हे स्वर्ग में खजाना मिलेगा. || If you want to be perfect, go, sell your possessions and give to the poor, Read more ›

यदि तुम उनसे प्रेम करते हो जो तुमसे प्रेम करते हैं, तुम्हे इसका क्या श्रेय मिलेगा ? क्योंकि पापी भी उससे प्रेम करते हैं जो उनसे प्रेम करता है. और यदि तुम उनका भला करते हो जो तुम्हारा भला करते Read more ›

लेकिन मैं तुमसे कहता हूँ, अपने दुश्मनों से प्रेम करो और उनके लिए प्रार्थना करो जो तुम्हे सताते हैं, ताकि तुम उस पिता की संतान बन सको जो स्वर्ग में है; क्योंकि वह अपना सूर्य बुराई और अच्छाई दोनों पर Read more ›

ध्यान से देखो, मैं दरवाजे पर खड़ा होकर खटखटा रहा हूँ. यदि कोई मेरी आवाज़ सुनता है और दरवाज़ा खोलता है, मैं उसके अन्दर आऊंगा और उसके साथ में खाऊंगा, और वो मेरे साथ. || Behold, I stand at the Read more ›

जिस प्रकार पिता ने मुझसे प्रेम किया है, उसी तरह मैंने तुमसे प्रेम किया है. || As the Father has loved me, so have I loved you. – Jesus Christ

सभी हुक्मनामें : तुम्हे व्यभिचारिता नहीं करनी चाहिए, तुम्हे हत्या नहीं करनी चाहिए, तुम्हे चुराना नहीं चाहिए, तुम्हे लालच नहीं करनी चाहिए, और ऐसी ही चीजें; इस एक आदेश में निहित हैं: तुम्हे अपने पडोसी से स्वयं जैसे प्रेम करना Read more ›

मैं तुम्हे एक नया आदेश देता हूँ: एक दूसरे से प्रेम करो. जैसे मैंने तुमसे प्रेम किया है, तुम एक दूसरे से प्रेम करो. || A new command I give you: Love one another. As I have loved you, so Read more ›

मंदिरों की आवश्यकता नहीं है , ना ही जटिल तत्त्वज्ञान की. मेरा मस्तिष्क और मेरा हृदय मेरे मंदिर हैं; मेरा दर्शन दयालुता है. || There is no need for temples, no need for complicated philosophies. My brain and my heart Read more ›