Hindi Quotes by Famous People

Archive

भारत का आम आदमी भोजन, प्रकाश, हवा, आश्रय के बिना जीवित रह सकता है . || The Common Man from India can survive without water, food, light, air, shelter! – R K Laxman

आर्थिक मुद्दे हमारे लिए सबसे ज़रूरी हैं, और यह बेहद महत्त्वपूर्ण है कि हम अपने सबसे बड़े दुश्मन गरीबी और बेरोजगारी से लड़ें. || The economic issues are most vital for us and it is of the highest importance that Read more ›

विज्ञान लोगों को गरीबी और बीमारी से निकाल सकता है। और वो बदले में सामाजिक अशांति ख़त्म कर सकता है। || Science can lift people out of poverty and cure disease. That, in turn, will reduce civil unrest. – Stephen Read more ›

जैव – विविधता कन्वेंशन ने विश्व के गरीबों को कोई ठोस लाभ नहीं पहुँचाया है . || The Bio-diversity Convention has not yielded any tangible benefits to the world’s poor. – Atal Bihari Vajpayee

गरीबी बहुआयामी है . यह हमारी कमाई के अलावा स्वास्थय , राजनीतिक भागीदारी , और हमारी संस्कृति और सामाजिक संगठन की उन्नति पर भी असर डालती है . || Poverty is multidimensional. It extends beyond money incomes to education, health Read more ›

अकेलापन और अनचाहा होना दुनिया की सबसे बड़ी गरीबी है. – मदर टेरेसा || Loneliness and the feeling of being unwanted is the most terrible poverty. – Mother Teresa

यदि आप सौ लोगो को नहीं खिला सकते तो एक को ही खिलाइए. – मदर टेरेसा || If you can’t feed a hundred people, then feed just one. – Mother Teresa

जिस व्यक्ति को कोई चाहने वाला न हो, कोई ख्याल रखने वाला न हो, जिसे हर कोई भूल चुका हो,मेरे विचार से वह किसी ऐसे व्यक्ति की तुलना में जिसके पास कुछ खाने को न हो ,कहीं बड़ी भूख, कही Read more ›

मेरे मन में कोई संदेह नहीं है कि हमारे देश की प्रमुख समस्याएं गरीबी ,अशिक्षा , बीमारी , कुशल उत्पादन एवं वितरण सिर्फ समाजवादी तरीके से ही की जा सकती है . – सुभाष चन्द्र बोस || I have no Read more ›

दुनिया में ऐसे लोग हैं जो इतने भूखे हैं कि भगवान उन्हें किसी और रूप में नहीं दिख सकता सिवाय रोटी के रूप में. – महात्मा गाँधी || Translation: There are people in the world so hungry, that God cannot Read more ›

गरीबी दैवी अभिशाप नहीं बल्कि मानवरचित षडयन्त्र है। – महात्मा गाँधी

  मैं तुम्हें एक जंतर देता हूँ । जब भी तुम्हें संदेह हो या तुम्हारा अहम् तुम पर हावी होने लगे, तो यह कसौटी आजमाओ : जो सबसे गरीब और कमज़ोर आदमी तुमने देखा हो, उसकी शकल याद करो और Read more ›