Hindi Quotes by Famous People

Archive

सच्ची सफलता और आनंद का सबसे बड़ा रहस्य यह है: वह पुरुष या स्त्री जो बदले में कुछ नहीं मांगता, पूर्ण रूप से निस्स्वार्थ व्यक्ति, सबसे सफल है. – स्वामी विवेकानंद || The great secret of true success, of true Read more ›

जो अग्नि हमें गर्मी देती है , हमें नष्ट भी कर सकती है ; यह अग्नि का दोष नहीं है . – स्वामी विवेकानंद || The fire that warms us can also consume us; it is not the fault of Read more ›

शक्ति जीवन है , निर्बलता मृत्यु है . विस्तार जीवन है , संकुचन मृत्यु है . प्रेम जीवन है , द्वेष मृत्यु है . – स्वामी विवेकानंद || Strength is Life, Weakness is Death.Expansion is Life, Contraction is Death.Love is Read more ›

हम जो बोते हैं वो काटते हैं . हम स्वयं अपने भाग्य के विधाता हैं . हवा बह रही है ; वो जहाज जिनके पाल खुले हैं , इससे टकराते हैं , और अपनी दिशा में आगे बढ़ते हैं , Read more ›

शारीरिक , बौद्धिक और आध्यात्मिक रूप से जो कुछ भी कमजोर बनता है – , उसे ज़हर की तरह त्याग दो . – स्वामी विवेकानंद || Anything that makes weak – physically, intellectually and spiritually, reject it as poison. – Read more ›

कुछ मत पूछो , बदले में कुछ मत मांगो . जो देना है वो दो ; वो तुम तक वापस आएगा , पर उसके बारे में अभी मत सोचो . – स्वामी विवेकानंद || Ask nothing; want nothing in return. Read more ›

जो तुम सोचते हो वो हो जाओगे . यदि तुम खुद को कमजोर सोचते हो , तुम कमजोर हो जाओगे ; अगर खुद को ताकतवर सोचते हो , तुम ताकतवर हो जाओगे . – स्वामी विवेकानंद || Whatever you think Read more ›

मस्तिष्क की शक्तियां सूर्य की किरणों के समान हैं . जब वो केन्द्रित होती हैं ; चमक उठती हैं . – स्वामी विवेकानंद || The powers of the mind are like the rays of the sun when they are concentrated Read more ›

आकांक्षा , अज्ञानता , और असमानता – यह बंधन की त्रिमूर्तियां हैं . – स्वामी विवेकानंद || Desire, ignorance, and inequality—this is the trinity of bondage. – Swami Vivekananda

यह भगवान से प्रेम का बंधन वास्तव में ऐसा है जो आत्मा को बांधता नहीं है बल्कि प्रभावी ढंग से उसके सारे बंधन तोड़ देता है . – स्वामी विवेकानंद || This attachment of Love to God is indeed one Read more ›

कुछ सच्चे , इमानदार और उर्जावान पुरुष और महिलाएं ; जितना कोई भीड़ एक सदी में कर सकती है उससे अधिक एक वर्ष में कर सकते हैं . – स्वामी विवेकानंद || A few heart-whole, sincere, and energetic men and Read more ›

जब लोग तुम्हे गाली दें तो तुम उन्हें आशीर्वाद दो . सोचो , तुम्हारे झूठे दंभ को बाहर निकालकर वो तुम्हारी कितनी मदद कर रहे हैं . – स्वामी विवेकानंद || Bless people when they revile you. Think how much Read more ›

श्री रामकृष्ण कहा करते थे ,” जब तक मैं जीवित हूँ , तब तक मैं सीखता हूँ ”. वह व्यक्ति या वह समाज जिसके पास सीखने को कुछ नहीं है वह पहले से ही मौत के जबड़े में है . Read more ›

तुम फ़ुटबाल के जरिये स्वर्ग के ज्यादा निकट होगे बजाये गीता का अध्ययन करने के . – स्वामी विवेकानंद || You will be nearer to heaven through football than through the study of the Gita. – Swami Vivekananda

हमारा कर्तव्य है कि हम हर किसी को उसका उच्चतम आदर्श जीवन जीने के संघर्ष में प्रोत्साहन करें ; और साथ ही साथ उस आदर्श को सत्य के जितना निकट हो सके लाने का प्रयास करें . – स्वामी विवेकानंद Read more ›

एक विचार लो . उस विचार को अपना जीवन बना लो – उसके बारे में सोचो उसके सपने देखो , उस विचार को जियो . अपने मस्तिष्क , मांसपेशियों , नसों , शरीर के हर हिस्से को उस विचार में Read more ›

जिस क्षण मैंने यह जान लिया कि भगवान हर एक मानव शरीर रुपी मंदिर में विराजमान हैं , जिस क्षण मैं हर व्यक्ति के सामने श्रद्धा से खड़ा हो गया और उसके भीतर भगवान को देखने लगा – उसी क्षण Read more ›

वेदान्त कोई पाप नहीं जानता , वो केवल त्रुटी जानता है . और वेदान्त कहता है कि सबसे बड़ी त्रुटी यह कहना है कि तुम कमजोर हो , तुम पापी हो , एक तुच्छ प्राणी हो , और तुम्हारे पास Read more ›

जब कोई विचार अनन्य रूप से मस्तिष्क पर अधिकार कर लेता है तब वह वास्तविक भौतिक या मानसिक अवस्था में परिवर्तित हो जाता है . – स्वामी विवेकानंद || When an idea exclusively occupies the mind, it is transformed into Read more ›

भला हम भगवान को खोजने कहाँ जा सकते हैं अगर उसे अपने ह्रदय और हर एक जीवित प्राणी में नहीं देख सकते . – स्वामी विवेकानंद || Where can we go to find God if we cannot see Him in Read more ›

तुम्हे अन्दर से बाहर की तरफ विकसित होना है . कोई तुम्हे पढ़ा नहीं सकता , कोई तुम्हे आध्यात्मिक नहीं बना सकता . तुम्हारी आत्मा के आलावा कोई और गुरु नहीं है . – स्वामी विवेकानंद || You have to Read more ›

हम जितना ज्यादा बाहर जायें और दूसरों का भला करें, हमारा ह्रदय उतना ही शुद्ध होगा , और परमात्मा उसमे बसेंगे. – स्वामी विवेकानंद || The more we come out and do good to others, the more our hearts will Read more ›

भगवान् की एक परम प्रिय के रूप में पूजा की जानी चाहिए , इस या अगले जीवन की सभी चीजों से बढ़कर . – स्वामी विवेकानंद || GOD is to be worshipped as the one beloved, dearer than everything in Read more ›

यदि स्वयं में विश्वास करना और अधिक विस्तार से पढाया और अभ्यास कराया गया होता , तो मुझे यकीन है कि बुराइयों और दुःख का एक बहुत बड़ा हिस्सा गायब हो गया होता . – स्वामी विवेकानंद || If faith Read more ›

विश्व एक व्यायामशाला है जहाँ हम खुद को मजबूत बनाने के लिए आते हैं. – स्वामी विवेकानंद || The world is the great gymnasium where we come to make ourselves strong. – Swami Vivekananda

इस दुनिया में सभी भेद-भाव किसी स्तर के हैं, ना कि प्रकार के, क्योंकि एकता ही सभी चीजों का रहस्य है. – स्वामी विवेकानंद || All differences in this world are of degree, and not of kind, because oneness is Read more ›

उस व्यक्ति ने अमरत्त्व प्राप्त कर लिया है, जो किसी सांसारिक वस्तु से व्याकुल नहीं होता. – स्वामी विवेकानंद || That man has reached immortality who is disturbed by nothing material. – Swami Vivekananda

हम वो हैं जो हमें हमारी सोच ने बनाया है, इसलिए इस बात का धयान रखिये कि आप क्या सोचते हैं. शब्द गौण हैं. विचार रहते हैं, वे दूर तक यात्रा करते हैं. – स्वामी विवेकानंद || We are what Read more ›

सत्य को हज़ार तरीकों से बताया जा सकता है, फिर भी हर एक सत्य ही होगा.- स्वामी विवेकानंद || Truth can be stated in a thousand different ways, yet each one can be true. – Swami Vivekananda

ब्रह्माण्ड कि सारी शक्तियां पहले से हमारी हैं. वो हमीं हैं जो अपनी आँखों पर हाँथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अन्धकार है! – स्वामी विवेकानंद || All the powers in the universe are already ours. Read more ›

जिस तरह से विभिन्न स्रोतों से उत्पन्न धाराएँ अपना जल समुद्र में मिला देती हैं ,उसी प्रकार मनुष्य द्वारा चुना हर मार्ग, चाहे अच्छा हो या बुरा भगवान तक जाता है. – स्वामी विवेकानंद || As different streams having different Read more ›

अगर धन दूसरों की भलाई करने में मदद करे, तो इसका कुछ मूल्य है, अन्यथा, ये सिर्फ बुराई का एक ढेर है, और इससे जितना जल्दी छुटकारा मिल जाये उतना बेहतर है. – स्वामी विवेकानंद || If money help a Read more ›

उठो मेरे शेरो, इस भ्रम को मिटा दो कि तुम निर्बल हो , तुम एक अमर आत्मा हो, स्वच्छंद जीव हो, धन्य हो, सनातन हो , तुम तत्व नहीं हो , ना ही शरीर हो , तत्व तुम्हारा सेवक है Read more ›

उठो, जागो और तब तक नहीं रुको जब तक लक्ष्य ना प्राप्त हो जाये – स्वामी विवेकानंद || Arise, awake and stop not till the goal is reached – Swami Vivekananda

Related searches: Swami Vivekanand quotes in hindi, Swami Vivekanand hindi quotes, Swami Vivekanand thoughts in hindi, Swami Vivekanand status in hindi, Swami Vivekanand suvichar in hindi, Swami Vivekanand anmol vachan, Swami Vivekanand slogans in hindi